dosti shayari in hindi for friend



सभी की किसमत में ऐसा लिखा नही होता ..
हर किसी को  तेरै जैसा दौस्त का पता नही मिलता..
मेरी तकादीर है बहुत खास..
वरना तेरे जैसा दोस्त मुझे कहाँँ मिलता..


............


 दोस्ती हमसे निभाते रहना
हर मोड़ पर हमें आज़माते रहना,
लेकिन छोड़कर कभी मत जाना,
चाहे सारी उम्र भर हमें सताते रहना .

............


दोस्त तुझे हम खुदा मानते हैं,
दोस्तों में तुम्हें हम सबसे अज़ीज़ मानते हैं.
तेरी दोस्ती की खातिर ज़िंदा हैं,
हम तो तुझे खुदा का ताबीज़ मानते हैं.


...........


इश्क़ और दोस्ती मेरी ज़िंदगी है
इश्क़ मेरी आत्मा और दोस्ती मेरा ईमान है
इश्क़ पे फिदा करूं अपनी सारी ज़िंदगी
मगर दोस्ती पर तो
 मेरा इश्क़ भी क़ुरबान है


..........


दिलों को खरीदने वाले बहुत मिल जाएंगे,
दोस्ती में दागा देने वाले बार-बार मिल जाएँगे.
तुमको नहीं मिलेगा मेरे जैसा कोई
मिलने को तो दोस्त बेहिसाब मिल जाएँगे..

...........


खुदा ने हमें दोस्तों से मिलाया
हमारी दोस्ती का रिस्ता बनाया
 दोस्ती रहेगी सिर्फ उसकी कायम
जिसने दोस्ती को अपने दिल से निभाया


............


 हम भी  एक दिन कफ़न ओढ़ जाएँगे
 इस ज़मीन से हर एक रिश्ता तोड़े जाएँगे
जी चाहे उतना सतालो यारो……
 रुलाते हुए एक दिन सबको छोड़ जाएँगे

...........


 यादों को कुछ लोग दिल की तस्वीर बनाते हैं,
अपने दोस्तों की याद में महफ़िल सजाते है,
हम थोड़े अलग हैं,
जो हमें याद आने से पहले
उनको अपनी याद दिलाते है

...........


जवाब दोगे तो बात करेंगे
नही दोगे तो इंतेज़ार कर लेंगे,
दोस्ती की है आपसे इसलिए
 मरते दम तक
आप को हर वक्त याद करेंगे .

...........


ये रिश्तो की दुनिया हैं निराली,
सब रिश्तो से न्यारी है दोस्ती हमारी
मंजूर है आंखों में आंसू
अगर आ जाए होठों पे मुस्कान तुम्हारी


............



ये ज़िंदगी रहे ना रहे,
हमारी दोस्ती रहेगी,
तुम पास रहो ना रहे,
तुम्हारी यादें रहेगी,
तुम सदा हंसते रहना,
क्यूंकी आपकी हँसी में
एक हँसी हमारी भी रहेगी..

...........


आपकी दोस्ती को हम एहसान मानते हैं
दोस्ती निभाना अपना ईमान मानते हैं
दोस्ती में हम नहीं देते जान
क्यों कि दोस्तों को हम अपनी जान मानते है.

...........


हमारे मन में आपकी हर बात रहेगी,
बस्ती छोटी है लेकिन आबाद रहेगी,
चाहे हम भुला दें इस ज़माने को,
मगर आपकी दोस्ती हमेशा याद रहेगी!

...........


बहुत भरोसा दिलाते हैं दोस्त,
साथ चलने को बेवकूफ़ बनाते हैं दोस्त,
शरबत बोल के बियर पिलाते हैं दोस्त,
ये कमीने बहुत याद आते हैं दोस्त.


............


जो देखी नब्ज मेरी,
हँस कर बोला  हकीम,
जा महफिल जमा ले दोस्तों के साथ..
तेरे हर मर्ज की दवा हैं तेरे दोस्त ..


...........


दोस्ती करो पर धोका मत देना,
किसी को भरोसे का तोहफा मत देना,
दिल से रोए तुम्हे याद करके कोई ,
कभी किसी को ऐसा मोका मत देना.”

...........


जुदाई सहना इतना आसान नहीं होता,
दोस्ती के लिए हर कोई काबिल नहीं होता
यह तो खुदा की मेहरबानी है,
वरना सच्चा दोस्त सभी के नसीब में नही होता

............


दिल कभी दिल से जुदा नही होते,
यूही हम किसी पर फिदा नही होते,
प्यार से बड़ा तो दोस्ती का रिश्ता है,
क्यूकी दोस्त कभी बेवफा नही होते…

............


यह ज़िंदगी  हमारी अमानत नही है
यह दोस्ती हमारी रियासत नही है
 सलतनत में हमारी देख कर क़दम रखना,
क्योकि मेरी दोस्ती की क़ैद मैं ज़मानत नहीं है।

............


हम वह नहीं जो मिलने की दुआ न करे,
तुम्हें भूल जाऊं यह खुदा न करे,
तुम रहो मेरी जिंदगी बनकर,
बस ये कमबख्त जिन्दगी वफा न करे|

...........


हम दोस्ती पर एक किताब लिखेंगे,
दोस्ती की हर एक बात लिखेंगे,
जब लिखना हो कि दोस्त कैसे होते हैं
ए दोस्त तुम्हें सोच कर हर बात लिखेंगे.


...........


एक रात रब ने सपने में मुझसे पूछा,
दोस्ती में तो इतना खोया क्यूं है,
तब मेरे दिल से आवाज आई
दोस्तो से मिली हैं सारी खुशिया,
वरना प्यार में तो दिल हमेशा रोया है.

..........


दर्द उनके दिल में हुआ
हमें बेक़ारारी रही
वो चाहे इसे जो भी कहें
हमारी नजरों में तो ये यारी रही

...........


बिछड़ के मुझसे तुम अपनी नूर ना खो देना,
दुखी रहने से चेहरा खराब होता है...

...........

दोस्ती में दोस्त का इशारा याद रहता है
दोस्त को अपना दोस्ताना याद रहेता हे,
कुछ वक्त सच्चे दोस्तों के साथ तो गुजारो,
वो अफ़साना अंतिम समय तक याद रहता है|

..........


ये कौन कहता है कि
दोस्ती बराबरी वालों में होती है
सच्चाई तो ये है
कि दोस्ती में सब बराबर होते है..!!

............


छोटी सी जिंदगी में गम बहुत है,
जिंदगी में पड़े जख्म बहुत हैं,
जला डालती दुनिया हमें अब तक
इन कमीने दोस्तों की दुआओं में दम बहुत है.

............


हर अनकही बात की अदा है दोस्ती,
हर गम की दवा है दोस्ती,
कमी है पूजने वालों में,
वरना इस ज़मीन पर बस खुदा है दोस्ती.

...........


सबसे अलग सबसे न्यारे हो आप,
तारीफ कभी खत्म ना हो इतने प्यारे हो आप,
आज पता लगा दुनिया क्यों जलती है,
क्यों कि आखिर दोस्त तो हमारे हो आप…


............


दोस्ती का कर्ज कुछ इस तरह अदा करूँँ,
आप भले मुझे भूल जाओ
 मैं तुम्हें हर पल याद करू,
खुदा से बस इतना सीखा है मैंने
कि खुद से ज्यादा तेरे लिए दुआ करूं


.............


यदि कभी तुम्हें याद ना कर पाऊं
तो मुझे खुदगर्ज़ न समझ लेना दोस्तों,
दरसल जिंदगी में परेशानिया बहुत हैं,
मुझे यह अच्छी तरह पता है
कि तुम लोग मेरे सबसे अच्छे दोस्त हो,
बस लड़ रहा हूं जिंदगी से
कि दो वक्त की रोटी मिल जाए


............

अगर दोस्ती अच्छी हो तो # रंग़ लाती है
अगर दोस्ती गहरी हो तो सबको # भाती है
यदि दोस्ती नादान हो तो # टूट जाती है
लेकिन दोस्ती अपने जैसी हो
तो इतिहास में लिखी जाती है

...........

गुनाह करके हम सजा से नहीं डरते ,
ज़हर पी के दवा की नहीं सोचते,
दुश्मनों के सितम से नहीं डरते हम,
हम तो दोस्तों के रूठ जाने से डरते है।

............


 सच बोलने से प्यार में जुदाई होती है
कोई दूसरा मिले तो बेवफाई होती है ,
एक बार हमसे दोस्ती करके तो देखो
तभी तुम्हें पता लगेगा कि
दोस्ती में कितनी सच्चाई होती है।




............


एक रात खुदा ने मुझसे पूछा,
कि दोस्ती पर तुझे इतना गुरुर क्यों है,
तब खुदा से मैं बोला
दोस्तो से ही मिली है मुझे
इस जहां में सारी खुशियां,
वरना प्यार प्यार में तो दिल हमेशा टूटा है

............

 बहुत वक्त हो गया दोस्तों की महफिल
सजे
बहुत वक्त हो गया हमें खुल के जिए,
सोचता हूं दोस्तों का काफिला
अब मिल ही जाए ,
बहुत वक्त हो गया हमें खुल कर पिए.

............

यह साथ तुम्हारा बहुत खूबसूरत है ,
किस्मत हमारी इसे बना दीजिए ,
नहीं चाहिए दुनिया में अब और कुछ,
बस अपनी दोस्ती की तसल्ली दिला दीजिए

............

 कौन सी मंजिल को पाना है, ये कौन जानता है,
कहां आशियाना बनाना है, ये कौन जानता है,
जी लो दोस्ती में जी भर
कब बिछड जाना है ये कौन जानता है.!

............

मैंने देखे हैं लोग जमाने में,
सब मतलबी होते हैं...
कुछ ही लोग होते हैं अपने,
जिनको दोस्त हम कहते हैं ।
❤❤❤❤🌷☘💐💗

Mene dekhe hain log jamane me,
Sab matlabi hote hain.....
Kuch hi log hote hain Apne
Jinko dost hum kahte hain.

............


ए मेरे दोस्त,
अपने भी अब बेगाने हो गए ।
केवल तू ही है जो अब तक,
मेरा साथ निभा रहा है।
❤❤❤❤🌷☘💐💗


Ae mere dost,
Apne bhi ab begane ho gye.
Keval tu hi hai jo ab tak,
Mera sath nibha rha h.
❤❤❤❤🌷☘💐💗


ऐसे ही दोस्त जिंदगी में हमेशा साथ रहते हैं............

............

छोड़ गई वह लड़की भी अब,
जिसको जान हम कहते थे ।
अभी भी है वह मेरे साथ जिसे,
बिगड़ा यार हम कहते थे।
❤❤❤❤🌷☘💐💗


Chhod gyi vah ladki bhi ab,
Jisko jaan hum kahte the.
Abhi bhi hai vah mere sath jise,
Bigda yaar hum kahte the.

मेरे दोस्त मेरे यार को सलाम.......
❤❤❤❤🌷☘💐💗

Post a Comment

Previous Post Next Post